महाबैंक किसान क्रेडिट कार्ड (एमकेसीसी)

महाबैंक किसान क्रेडिट कार्ड (एमकेसीसी)
सुविधा का प्रकारनकदी ऋण (एमकेसीसी) के लिए कार्यशील पूंजी:
उद्देश्य
  • फसलों की खेती
  • फसल कटाई - उपरांत व्यय।
  • किसान परिवार की खपत की आवश्यकताएँ
  • कृषि उपकरणों का रखरखाव
  • संबद्ध कृषि गतिविधियों के लिए कार्यशील पूंजी
पात्रताकार्यशील पूंजी के लिए:
  • सभी किसान- व्यक्ति / संयुक्त भूमिधारक
  • पट्टेदार किसान, काश्‍तकार, मुँह-ज़ुबानी पट्टेदार
  • किसानों के एसएचजी/ जेएलजी
सीमापहले वर्ष हेतु सीमा - फसल का वित्तमान (डीएलटीसी द्वारा तय * पैदावार का क्षेत्र + कटाई – उपरांत व्‍ययों हेतु 10% + कृषि उपकरणों के मरम्मत व रखरखाव हेतु सीमा का 20%)। 2रे वर्ष से प्रत्येक उत्‍तरवर्ती वर्ष {2रे, 3रे, 4 थे व 5 वें वर्ष} हेतु लागत वृद्धि / वित्तमान में वृद्धि/ लागत-वृद्धि के प्रति 10%।
आहरण अधिकारउपरोक्त के अनुसार प्रत्येक वर्ष के लिए आहरण सीमा (डीपी)
हाशियाशून्य, वित्त के स्केल को ठीक करते समय मार्जिन पर विचार किया जाता है
ब्याज की दर
  • 3 लाख रुपये तक सीमा: एक वर्ष तक ब्याज सहायता (सबवेन्शन) योजना के तहत @ 7% प्रति वर्ष (निश्चित)
  • 3 लाख रुपये से अधिक सीमा: जैसा कि कृषि अग्रिमों पर लागू होता है
प्रतिभूति
  • 1 लाख तक सीमा: 1) फसलों का दृष्टिबंधन (हाइपोथेकेशन)
  • सीमा 1 लाख से ऊपर: 1) फसलों का दृष्टिबंधन (हाइपोथेकेशन) और
    2) तीसरी पार्टी गारंटी / भूमि का बंधक
पुनर्भुगतान
  • खरीफ- अगले मार्च
  • रबी- अगले जून
  • बागबानी फसल- अगले सितंबर
वैधता / नवीनीकरणवार्षिक समीक्षा के अधीन केसीसी सीमा 5 साल के लिए वैध है|
अन्य नियम व शर्तेंअधिसूचित फसलों के लिए बीमा समय-समय पर सरकारी दिशानिर्देशों के अनुसार उपलब्ध है।
कागज़ी आवश्यकता1.ऋण आवेदन यानी फॉर्म संख्या -138, संलग्नक – बी2
  • सभी 7/12, 8ए, 6डी के सार (एक्सट्रेक्‍ट), आवेदक की चतुर्सीमा
  • पीएसीएस समेत आसपास के वित्तीय संस्थानों से आवेदक का बेबाकी प्रमाणपत्र
  • जहां भूमि का बंधक किया जाना हो वहां 1 लाख रुपये से ऊपर के ऋण के लिए बैंक के पैनल पर मौजूद वकील से कानूनी खोज।
2. गारंटी फॉर्म एफ -138
  • गारंटीकर्ता के सभी 7/12, 8ए और पीएसीएस बकाया प्रमाणपत्र