गारंटीकृत आपातकालीन क्रेडिट लाइन (जीईसीएल) सुविधा विवरण

क्र.नामदिशानिर्देश
1नाम 'आपातकालीन क्रेडिट लाइन गारंटी योजना (ईसीएलजीएस)' (इसके बाद इसमें "योजना" के रूप में संदर्भित) और ऋण उत्पाद जिसके लिए योजना के अंतर्गत गारंटी उपलब्ध की जाएगी, उसे गारंटीकृत आपातकालीन क्रेडिट लाइन (जीईसीएल)' नाम दिया जाएगा।
2उद्देश्य यह योजना कोविड-19 की अभूतपूर्व स्थिति की एक विशिष्ट प्रतिक्रिया है। यह अतिरिक्त तरलता प्रदान करती है, जिससे एमएसएमई अपने परिचालन दायित्वों को पूरा करने और अपने व्यवसायों को फिर से शुरू करने में सक्षम हो सके।
3सुविधा का प्रकार निधि आधारित : कार्यशील पूंजी सावधि ऋण
4पात्र उधारकर्ता एमएसएमई/ व्यावसायिक उद्यम जो प्रोप्राइटरशिप, भागीदारी, पंजीकृत कंपनियों, तथा पीएमएमवाई के अंतर्गत इच्छुक उधारकर्ता एवं ट्रस्टों और सीमित देयता भागीदारी (एलएलपी) के रूप में गठित किए जाते हैं।
5पात्रता मानदंड
  • दिनांक 20.02.2020 को सभी सदस्य ऋण संस्थानों (*एमएलआई) में रु.25 करोड़ तक के संयुक्त बकाया ऋण के साथ और वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए रु.100 करोड़ तक के वार्षिक टर्नओवर वाले सभी व्यावसायिक उद्यम/एमएसएमई उधारकर्ता खाते, योजना के लिए पात्र हैं।
  • यह योजना बैंक की बहियों पर मौजूदा ग्राहकों के लिए वैध है। योजना के अंतर्गत पात्र होने के लिए 29 फरवरी, 2020 को उधारकर्ता खाते पहले से बकाया 60 दिनों से कम या उसके बराबर होने चाहिए यानी सभी उधारकर्ता (पुनर्गठन खातों सहित) जिन्हें 29 फरवरी, 2020 तक किसी भी एमएलआई द्वारा SMA2 या एनपीए के रूप में वर्गीकृत नहीं किया गया है, इस योजना के लिए पात्र होंगे।
  • व्यक्तिगत क्षमता में प्रदान किए गए ऋण योजना के अंतर्गत कवर नहीं किए गए हैं।
  • व्यावसायिक उद्यम / एमएसएमई उधारकर्ता को उन सभी मामलों में जीएसटी पंजीकृत होना चाहिए, जहां इस तरह का पंजीकरण अनिवार्य है। यह शर्त उन व्यावसायिक उद्यमों / एमएसएमई पर लागू नहीं होगी जिन्हें जीएसटी पंजीकरण प्राप्त करने की आवश्यकता नहीं है।
6वित्त की मात्रा
  • दिनांक 29 फरवरी, 2020 को उधारकर्ता का, तुलनपत्र बाह्य और गैर-निधि आधारित एक्सपोज़र को छोड़कर, रु.25 करोड़ तक कुल बकाया ऋण का 20% तक यानी रु.5 करोड़ तक अतिरिक्त ऋण होगा।
7अवधि इस योजना के अंतर्गत उपलब्ध किए गए ऋण की अवधि संवितरण की तारीख से चार वर्ष की होगी।
8अधिस्थगन इस योजना के अंतर्गत मूल राशि पर एक वर्ष की अधिस्थगन अवधि दी जाएगी।
हालांकि, अधिस्थगन अवधि के दौरान ब्याज देय होगा। अधिस्थगन अवधि समाप्त होने के बाद मूलधन 36 किस्तों में चुकाया जाएगा।
9मार्जिन इसीएलजीएस हेतु शून्य
हालांकि, स्वीकृती की शर्तों के अनुसार मौजूदा सीमा के लिए मार्जिन जारी रहेगा।
10योजना की वैधता यह योजना दिनांक 23 मई, 2020 से 31 अक्तूबर, 2020 के दौरान जीईसीएल के अंतर्गत स्वीकृत सभी ऋणों पर या सभी एमएलआई द्वारा जीईसीएल के अंतर्गत रु.3 लाख करोड़ की राशि मंजूर किए जाने तक, जो भी पहले हो, लागू होगी।
11बीमा बैंक को प्रभारित सभी प्रतिभूतियों का बैंक खण्ड के साथ व्यापक बीमा किया जाना चाहिए।
12प्रक्रिया शुल्क शून्य
13पूर्वभुगतान शुल्क शून्य

Frequently Asked Questions (FAQ) on Guaranteed Emergency Credit Line (GECL)

For more details click on https://bit.ly/GECLFAQs