Azadi ka Amrit Mahatsav

कोविड प्रभावित पर्यटन सेवा क्षेत्र (एलजीएससीएटीएसएस) के लिए ऋण गारंटी योजना

क्र..

मानदंड

विशेषताएं

1

प्रयोजन

कोविड-19 महामारी के कारण प्रभावित व्‍यवसाय को पुन: शुरू करने तथा  कोविड प्रभावित पर्यटन सेवा क्षेत्र के लिए नई ऋण गारंटी योजना के अंतर्गत पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा मान्‍यताप्राप्‍त/ अनुमोदित यात्रा एवं पर्यटन हितधारक तथा पंजीकृत पर्यटक गाइड (पर्यटन मंत्रालय और राज्‍य सरकार/ संघशासित क्षेत्र के प्रशासन द्वारा मान्‍यताप्राप्‍त/ अनुमोदित) को अनुसूचित वाणिज्यिक बैंकों द्वारा उपलब्‍ध कराए गए ऋणों के लिए गारंटी कवरेज उपलब्‍ध कराने हेतु।  

2

पात्रता मानदंड 

पात्रता मानदंड निम्‍नानुसार हैं:

  1. पर्यटक गाइड: पर्यटन मंत्रालय और राज्‍य सरकार/ संघशासित क्षेत्र के प्रशासन द्वारा मान्‍यताप्राप्‍त/ अनुमोदित/ पंजीकृत तथा  
  2. *यात्रा एवं पर्यटन हितधारक: पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा  मान्‍यताप्राप्‍त/ अनुमोदित/ पंजीकृत।
       यात्रा एवं पर्यटन हितधारकसे तात्‍पर्य पर्यटन मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा मान्‍यताप्राप्‍त/ अनुमोदित यात्रा प्रचालक/ट्रैवल एजंट/ पर्यटक ट्रान्‍सपोर्ट प्रचालक।   
  3. उधारकर्ता व्‍यक्तिगत या स्‍वत्‍वधारिता, साझेदारी के रूप में गठित व्‍यवसाय उद्यमी, पंजीकृत कंपनी, ट्रस्‍ट तथा एलएलपी (सीमित देयता भागीदारी) या कोई अन्‍य विधिक इकाई हो सकते हैं।

  4. पात्र उधारकर्ता ईसीएलजीएस या एलजीएससीएटीएसएस के अंतर्गत सहायता प्राप्‍त कर सकते हैं। यदि पात्र उधारकर्ता ने ईसीएलजीएस 1.0 या 3.0 के अंतर्गत पहले से ही लाभ प्राप्‍त किया है तो उन्‍हें  एलजीएससीएटीएसएस योजना के अंतर्गत कवरेज के लिए आवेदन करने से पूर्व ईसीएलजीएस के अंतर्गत बकायों का भुगतान/ खाते को बंद करना होगा। इसीप्रकार, यदि किसी पात्र उधारकर्ता ने एलजीएससीएटीएसएस योजना के अंतर्गत सहायता प्राप्‍त की है तो उन्‍हें ईसीएलजीएस के अंतर्गत तो कवरेज के लिए आवेदन करने से पूर्व एलजीएससीएटीएसएस के अंतर्गत बकायों का भुगतान/ खाते को बंद करना होगा।   

अन्‍य नियम/ शर्तें:

  • किसी ऋणदाता के साथ कोई उधारी संबंध न रहने के मामले में: पर्यटक गाइड और यात्रा एवं पर्यटन हितधारकों का किसी अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक के साथ उधारी संबंध न रहने की स्थिति में भी योजना के अंतर्गत पात्रता रहने पर, वह योजना के अंतर्गत सहायता हेतु पात्र होगा। योजना के अंतर्गत सहयोग हेतु वह किसी अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक से संपर्क कर सकता है। (उधारकर्ता)
  • मौजूदा उधारकर्ताओं के मामले में: जिन उधारकर्ताओं के मौजूदा संबंध किसी अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक के साथ हैं, वे योजना के अंतर्गत अपने संबंधित बैंक से राशि की उधारी के लिए पहल कर सकते हैं। इस तंत्र का इस्‍तेमाल ऋण प्रक्रिया को सहज, तीव्र, झंझटमुक्‍त तथा उधारी के दौरान बैंकों द्वारा आवश्‍यक अतिरिक्‍त कागजी कार्रवाई (यथा केवाईसी आदि) को कम करने के लिए भी किया जाता है।   

3

योजना की वैधता 

यह योजना 31 मार्च, 2022 तक या योजना के अंतर्गत जारी रु.250 करोड़ राशि के लिए गारंटी तक, इसमें से जो भी पहले हो, वैध है।  

4

योजना के अवधि 

बैंक द्वारा योजना दिशानिर्देशों के जारी करने पर या उसके बाद मंजूर सभी पात्र ऋणों के लिए 31 मार्च, 2022 तक या सभी एमएलआई द्वारा योजना के अंतर्गत जारी रु.250 करोड़ की राशि हेतु गारंटी तक, इसमें से जो भी पहले हो, लागू होगी।

5

सुविधा की प्रकृति 

केवल निधि आधारित।

  • सावधि ऋण (टीएल)

6

ऋण की प्रमात्रा 

अधिकतम राशि के अधीन ग्राहक के अनुरोध के अनुसार:

​1. मान्‍यतापात्र/ अनुमोदित यात्रा एवं पर्यटन हितधारकों के मामले में प्रत्‍येक रु.10.00 तक और  
2. पंजीकृत पर्यटन गाइड के लिए प्रत्‍येक रु.1.00 लाख तक।  

7

मार्जिन 

शून्‍य 

8

ब्‍याज दर ​

  • 7.95% प्रति वर्ष 

9

इस योजना के अंतर्गत ऋण हेतु पुनर्भुगतान अवधि 

  • अधिकतम पुनर्भुगतान अवधि: अधिस्‍थगन अवधि सहित 5 वर्ष।
  • अधिस्‍थगन अवधि: मूलधन राशि पर एक वर्ष जिसके दौरान ब्‍याज देय होगा।  

10

प्रतिभूति 

योजना के अंतर्गत बैंक द्वारा वित्‍तपोषित उधारकर्ता की मौजूदा और प्रस्‍तावित आस्ति/ प्रतिभूति पर, यदि कोई हो, बैंक दृष्टिबंधक/ बंधक प्रभार निर्मित करेगा।

अन्‍य प्रतिभूति शर्तें:

  • इस योजना के अंतर्गत ऋण हेतु कोई अतिरिक्‍त संपार्श्विक प्रतिभूति प्राप्‍त नहीं की जाएगी।
  • बैंक द्वारा स्‍वयं के पक्ष में तथा एनसीजीटीसी की तरफ से प्रभार निर्मित किया जाएगा और एनसीजीटीसी के हितों की रक्षा हेतु आवश्‍यक कदम उठाए जाएंगे।
  • संवितरण के दिनांक से यथोचित समय के भीतर एनसीजीटीसी की तरफ से बैंक के हित में योजना के अंतर्गत वित्‍तपोषित आस्तियों पर एनसीजीटीसी का दूसरा प्रभार निर्मित होगा।
  • मौजूदा दिशानिर्देशों के अनुसार तत्‍काल प्रभार निर्मित किए जाने चाहिए। (योजना के अंतर्गत पात्र रहने के लिए खाते को एनपीए होने के पूर्व किसी भी स्थिति में प्रभार निर्मित किए जाने चाहिए।) 

11

गारंटी कवरेज की सीमा 

योजना के अंतर्गत उधारकर्ताओं को उपलब्‍ध कराई गई ऋण सुविधा हेतु एनसीजीटीसी द्वारा बकाया राशि पर 100% गारंटी कवरेज उपलब्‍ध कराया जाएगा। 

12

गारंटी कवर की समयावधि 

प्रथम संवितरण के दिनांक से अधिकतम 5 वर्षों तक योजना के अंतर्गत गारंटी उपलब्‍ध है। 

13

योजना के अंतर्गत गारंटी की प्रकृति 

एनसीजीटीसी की ऋण गारंटी शर्तरहित और अपरिवर्तनीय है।  

14

गारंटी शुल्‍क  

शून्‍य

15

प्रोसेसिंग शुल्‍क/ फोरक्‍लोजर/ पूर्व भुगतान/ खाता बंदी प्रभार    

शून्‍य

16

सभी अन्‍य सेवा प्रभार  ​

मौजूदा सेवा प्रभार दिशानिर्देशों के अनुसार।