1) एमएसएमई उधारकर्ताओं हेतु एलडब्लयूसीए मॉडल, अधिकतम सीमा रू. 5.00 करोड़ (संशोधित सीमा सहित)

पात्रता

  • वर्तमान एमएसएमई उधारकर्ता। ऐसे मानक खाते जो मंजूरी दिनांक पर एसएमए-2 नहीं हैं।
  • इस योजना के अंतर्गत कोई टेकओवर को मंजूरी न दी जाए । चूंकि इस योजना का उद्देश्य हमारे वर्तमान उधारकर्ताओं को कोविड-19 महामारी के प्रकोप से उबरने के लिए सहायता प्रदान करना है।

उद्देश्य

चालू आस्तियों के निर्माण हेतु सरलीकृत्त मूल्यांकन मॉडल/ शर्तों पर अतिरिक्त/ नवीकरण वित्त उपलब्ध करना।

सुविधा के प्रकार

कार्यशील पूंजी (अधिकतम रू. 5.00 करोड़ तक)

वित्त का परिमाण

उधारकर्ता, वर्ष-21 के लिए संशोधित अनुमानित वार्षिक टर्न-ओवर के अधिकतम 33% तक कार्यशील पूंजी हेतु पात्र होंगे। अधिकतम रू. 5.00 करोड़ (निधि आधारित+गैर-निधि आधारित), इनमें से जो कम हैं।

मार्जिन

स्टॉक पर 10% और प्राप्यों पर 15% - प्राप्यों पर कवर अवधि को वर्तमान में स्वीकृत्त कवर अवधि पर अधिकतम 90 दिनों तक बढ़ाया जा सकता है।

ब्याज दर

वर्तमान दिशानिर्दशों के अनुसार
शुल्क और प्रभार
  • प्रोसेसिंग शुल्क : वर्तमान दिशानिर्दशों के अनुसार
  • दस्तावेजीकरण प्रभार : वर्तमान दिशानिर्दशों के अनुसार

2) सभी एमएसएमई और कारपोरेट उधारकर्ताओं हेतु एलडब्लयूसीए मॉडल, रू. 5.00 करोड़ से अधिक सीमा

मार्जिन

  • नकद बजट पद्धति के अंतर्गत मूल्यांकित कार्यशील पूंजी सीमाओं के मामले में-न्यूनतम 20%
  • कार्यशील पूंजी गैप पद्धति के अंतर्गत मूल्यांकित कार्यशील पूंजी सीमाओं के मामले में- मौजूदा अनुमत मार्जिन स्तर से मार्जिन में अधिकतम 5% कमी की अनुमति दी जा सकती है।(उदहारणस्वरूप; यदि स्टॉक/ प्राप्यों पर वर्तमान अनुमत मार्जिन 30% है, तो संशोधित मार्जिन की मंजूरी केवल 25% तक दी जा सकती है)

चालू आस्तियों का धारण स्तर

  • नकद बजट पद्धति के अंतर्गत मूल्यांकित कार्यशील पूंजी सीमाओं के मामले में- लागू नहीं
  • कार्यशील पूंजी गैप पद्धति के अंतर्गत मूल्यांकित कार्यशील पूंजी सीमाओं के मामले में-
    1. प्राप्यों पर कवर अवधि को वर्तमान में स्वीकृत्त कवर अवधि पर अधिकतम 90 दिनों तक बढ़ाया जा सकता है।
    2. स्वीकृत्त सीमा अथवा उपलब्ध डीपी, इनमें से जो कम हो पर मार्जिन को कम करने के पश्चात डीपी की अनुमति दी जाएगी।